Monday, January 23, 2012

हास्य कविता-आई लव यू ,गुड बाई की जगह बहन फिर मिलेंगे बोल बैठे


आज उन्हें
नाराज़ कर बैठे
हाई  हैलो की जगह
नमस्कार कर बैठे
बहुत
खूबसूरत लग रही हो
कहना भूल बैठे
अध् ढके शरीर पर
पहने नए सूट
नयी घड़ी की
तारीफ़ करना भूल बैठे
असली उम्र से
छोटी लग रही हैं
कहने से चूक गए
उनके पसंदीदा
सैंट की महक को
अजीब बदबू आ रही है
कह बैठे
ज़ल्दबाजी में उनके
कद को
सही नाप बैठे ,
उन्हें साढ़े चार फुट का
बता बैठे
और तो और बेवकूफी में
अच्छा सोच रखने की
सलाह दे बैठे
जाते जाते संस्कारों पर
चर्चा कर बैठे
आई लव यू ,
गुड बाई की जगह
बहन फिर मिलेंगे
बोल बैठे
23-01-2012
73-73-01-12

1 comment:

पुष्पेन्द्र वीर साहिल said...

ये तो सोशल हाराकिरी कर बैठे... अच्छा व्यंग्य है कविता में !